मंगलवार, 25 जनवरी 2011

छत्तीसगढ़ की खबरें

साहब मुझे महिला बॉस से बचा लो
कोरबा.अब तक महिला उत्पीड़न का मामला समय-समय पर सामने आता रहा है। लेकिन अधिकारी, कर्मचारी मोर्चा ने कलेक्टर को पुरूष उत्पीड़न समिति गठन करने का ज्ञापन देकर महिला अफसरों पर प्रताड़ित किए जाने के मामले का खुलासा किया है।

कर्मचारी मोर्चा ने सौंपे ज्ञापन में कहा गया है कि पुरूष शासकीय सेवकों को उनके समुचित कर्तव्यों व अधिकारों का परिपालन में सम्मान की रक्षा की आवश्यकता महसूस होने लगी है।
ऐसे में पुरूष उत्पीड़न समिति का गठन करके ही उनकी समस्याओं का समाधान हो सकता है। मोर्चा को समय-समय पर राजपत्रित वर्ग से लेकर चतुर्थ श्रेणी तक के कर्मचारियों की शिकायत मिल रही है कि महिला अधिकारी व कर्मचारियों के द्वारा उन्हें धमकाया जा रहा है।
पुरूष अधिकारी व कर्मचारियों के कर्तव्य व अधिकारों की रक्षा का दायित्व भी शासन व प्रशासन का है। ऐसे मे उन्हें उत्पीड़न से मुक्ति दिलाने के लिए समिति की जरूरत महसूस हो रही है ताकि पीड़ित अधिकारी व कर्मचारी सीधे समिति के समक्ष अपना आवेदन प्रस्तुत कर सकें।
बड़ी संख्या में महिला अधिकारी विभाग प्रमुख के तौर पर कार्य कर रहीं हैं। प्रताड़ना की स्थिति में वे अपना आवेदन महिला समिति के समक्ष प्रस्तुत करते हैं। कई बार महिला बॉस व अधीनस्थ अधिकारी व कर्मचारी के बीच विवाद की स्थिति निर्मित होती है। इस कारण अब राजपत्रित अधिकारियों का संगठन भी पुरूष प्रताड़ना की शिकायत को लेकर मुखर होने लगा है।
"महिला बॉस के द्वारा प्रताड़ित किए जाने के कारण राजपत्रित अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक काफी व्यथित है। इससे कार्य प्रभावित होने के साथ-साथ टकराव की स्थिति भी निर्मित होने लगी है।"


खजुराहो में प्रस्तुति देंगी यास्मीन सिंह
रायपुर.मध्यप्रदेश संस्कृति विभाग की ओर से आयोजित किए जाने वाले सात दिवसीय खजुराहो महोत्सव में इस बार छत्तीसगढ़ की कथक नृत्यांगनाएं यास्मीन सिंह और डॉ. आरती सिंह प्रस्तुति देंगी। खजुराहो महोत्सव हर साल के फरवरी महीने में आयोजित किया जाता है।

इस कार्यक्रम की शुरुआत 1 फरवरी से खजुराहो (छतरपुर-मध्यप्रदेश) में होगी। विश्वप्रसिद्ध खजुराहो महोत्सव में पहले दिन मशहूर भरतनाट्यम नृत्यांगना और फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी व उनकी दोनों बेटियां ईशा और आहना ओडिसी नृत्य प्रस्तुत करेंगी। कार्यक्रम के दूसरे दिन दिल्ली के अनिभमन्यु लाल और विधा लाल कथक, रमा बैद्यनाथन भरतनाट्यम, मुंबई के कनक रेले मोहिनीअट्टम पेश करेंगे।
खजुराहो महोत्सव में तीसरा दिन छत्तीसगढ़ के नाम रहेगा, जब रायपुर से यास्मीन-आरती सिंह कथक की प्रस्तुति देंगी। राज्य की उभरती इन कलाकारों ने देश के अनेक मंचों पर अपनी प्रस्तुतियां दी हैं। खजुराहो महोत्सव में पहली बार छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व हो रहा है।
और सबसे बड़ी बात इस महोत्सव में मेजबान मध्यप्रदेश से कोई भी प्रतिभागी शामिल नहीं है। खजुराहो महोत्सव उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी द्वारा को-ऑर्डिनेट किया जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें